साहित्य प्रेमी एक पुलिस कर्मी

आनलाइन संगोष्ठी उमेश श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुई। यह संगोष्ठी, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उमेश श्रीवास्तव जी की माता श्रीमती सावित्री देवी की 25 वी एवं  संयोजिका ऋतन्धरा मिश्रा जी के पिता साहित्य प्रेमी एवं पुलिस कर्मी डा. देवेन्द्र कुमार मिश्र जी की 7 वी पुण्यतिथि पर आधारित थी। संगोष्ठी का विषय था साहित्य प्रेमी एक पुलिस कर्मी इस अवसर  पर ऋतंधरा मिश्रा ने अपने पिताजी को एक पुस्तक समर्पित की जो अमेजन पर प्रकाशित भी हो चुकी है पुस्तक का नाम है देवेंद्र लघुकथा संग्रह जिसमें प्रयाग की सशक्त हस्ताक्षर महिला काव्य मंच  प्रयागराज ईकाई की अध्यक्ष रचना सक्सेना, रमोला रूथ लाल, जया मोहन, सविता गुप्ता, प्रतिभा मिश्रा, सरिता श्रीवास्तव, ऋषा मिश्रा, शिवानी मिश्रा, नंदिता एकांकी, साधना मिश्रा, विकास गुप्ता और ऋतंधरा मिश्रा की लघु कथा शामिल है इस संगोष्ठी का शुभारंभ अतिथि एवं अध्यक्ष द्वारा माँ सरस्वती को पुष्प अर्पण एवं ऋतन्धरा मिश्रा की वाणी वंदना से हुआ तत्पश्चात अतिथि शंभु नाथ त्रिपाठी जी एवं वरिष्ठ रंगकर्मी सुषमा शर्माजी  ने श्रद्धांजलि स्वरुप अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया तथा नीलिमा मिश्रा, संजय सक्सेना एवं रचना सक्सेना में माँ एवं पिता को समर्पित सुंदर सुंदर रचनाओं को प्रस्तुत करते हुऐ  श्रीमती सावित्री देवी एवं डॉक्टर देवेंद्र कुमार मिश्र जी  को श्रद्धांजलि अर्पित की। अंत में संगोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे उमेश श्रीवास्तव जी ने अपने वक्तव्य के द्वारा श्रद्धांजलि देते हुऐ संयोजिका द्वारा आयोजित पिता की श्रद्धांजलि स्वरुप इस संगोष्ठी के लिये ऋतन्धरा मिश्रा जी की सराहना की। इस संगोष्ठी का संचालन रचना सक्सेना जी ने किया।