कोरोना के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के निर्देश

उत्तर प्रदेश सरकार व शासन द्वारा कोरोना के संक्रमण को देखते हुए जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन के सभागार में आयोजित बैठक में ईओ नगर पालिका व नगर पंचायतों व डीपीआरओं को निर्देश दिये कि स्वच्छता के सम्बन्ध में कोई भी शिथिलता नही बरती जाये। कोरोना संक्रमण व वर्षा ऋतु में संचारी रोग के प्रसार के दृष्टिगत प्रभारी कार्यवाही की जाये। उन्होंने प्रत्येक स्तर पर कोरोना के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के निर्देश दिये गये है साथ ही प्रमुख स्थानों व बाजारों, चैराहों आदि स्थानों पर पब्लिक एडेªस सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोरोना से बचाव की जानकारी दी जाये। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत इस वर्ष श्रावण मास में कांवड़ यात्रा भी स्थगित रहेगी। कांवड़ यात्रा के स्थगन की जानकारी अधिकारी अपने स्तर से धर्म गुरूओं आदि के माध्यम से जनमानस में प्रचार-प्रसार करने के साथ ही यात्रा को प्रत्येक दशा में स्थगित रखा जाये। 
 जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि कोविड-19 हेल्प डेस्क की स्थापना के कार्यो को तेज गति से रहे सभी विभाग एवं संस्थाए कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करे तथा निजी चिकित्सालयों में भी हेल्प डेस्क की स्थापना के लिए प्रेरित किया जाये। ओपीडी संचालित करने वाले कोविड हेल्प डेस्क अनिवार्य रूप से स्थापित हो। दोगज की दूरी मास्क है जरूरी, मास्क का प्रयोग कराने के लिए लोगों को जागरूक किया जाये। प्रत्येक दफतर, थाने, हास्पिटल, शापिंग माल दुकानों पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित न किये गये हो तो उसको तत्काल स्थापित कर इसकी सूचना जिला सूचना कार्यालय को दे दी जाये ताकि उनके स्तर से अपर मुख्य सचिव सूचना व गृह व निदेशक सूचना को मुहैया करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि समस्त नगर पंचायतों में बारिश को देखते हुए कही नाले, नालिया, गटर चोक न हो जिससे सड़कों पर जल भराव की समस्या उत्पन्न होने पर तत्काल साफ-सफाई की व्यवस्था रखा जाये। सड़कों पर किसी भी प्रकार जलभराव की समस्या उत्पन्न न होने पाये। वर्षा ऋतु को देखते हुए स्वच्छता का वृहद अभियान संचालित किये जाने के साथ ही फाॅगिंग तथा एंटी लार्वा रसायनों का छिड़काव प्रभावी ढंग से किया जाये। बाढ़ नियंत्रण के सम्बन्ध में पूरी सर्तकता रखते हुए समय से बाढ़ राहत शिविर तैयार करे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 1 जुलाई से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारम्भ किया जाये जिसकी समुचित सुव्यवस्थित तैयारियों के साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आदि संचारी रोग के सम्बन्ध में सर्तक रखते हुए मानव संसाधन को प्रशिक्षित रखते हुए एम्बुलेंस आदि की उपलब्धता रहे तथा अन्तर्विभागीय समन्वय के माध्यम से कार्यो को निचले स्तर तक पहुचाए जाने पर बल दिया जाये। उन्होंने संचारी रोग से बचाव की जानकारी भी दी जाये। पीएचसी, सीएचसी, चैराहों आदि प्रमुख स्थलों पर होल्डिंग व पोस्टर भी लगवाये जाये। इसके अल.ावा अन्य बिन्दुओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी वि0रा0 प्रेम प्रकाश उपाध्याय सहित नगर पालिका/नगर पचायत ईओ व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।