एक पल में ही पराया कर दिया

जो  नहीं  करना  था   वैसा  कर दिया !
प्यार को  दुनिया में  रुसवा  कर दिया !


उम्र  भर  को   दी   तड़पने  की  सजा !
बे-वफा  तू  ने  सितम  क्या  कर दिया !


रिश्ता-ए-उल्फत  को  उसने  तोड़कर !
एक  पल   में   ही   पराया  कर  दिया !


दे के  मुझको  गम  अलम   रुसवाईयाँ !
जिन्दगी   को   यूँ   तमाशा   कर दिया !


दर्द-ए-दिल  तन्हाई  आँसू  और तड़प !
इश्क ने   इन  सब  को मेरा  कर दिया !


नफरतें  दिल  में  जगीं  कुछ इस तरह !
सर्द   जज्बों   को   शरारा   कर  दिया !


खुशनुमा बेहतर ‘कशिश’ थी जिन्दगी !
आशिकी  ने  गम  का  मारा कर दिया !


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग