करोडो की मूर्ति के साथ तस्करी कर विदेश भेजने वाले गैंग के 6 अभियुक्त पकड़े गये


मुबारकपुर के रामजानकी मन्दिर से बहुचर्चित अष्टधातु की मूर्ति लूट की घटना का अनावरण कर पुलिस ने करोडो रूपये की मूर्ति एव अवैध असलहा कारतूस के साथ, तस्करी कर विदेश भेजने वाले गैंग के 6 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। रामजानकी मन्दिर थाना मुबारकपुर जनपद आजमगढ के पुजारी जयंत तिवारी ने थाना मुबारकपुर पर सूचना दर्ज करायी कि दिनाक 24-25 मई 2020 को रात को अज्ञात लुटेरो द्वारा मुझे बन्धक बनाकर हाथ पैर बांधकर मन्दिर में स्थापित प्राचीन बहुमुल्य मूर्तियो को असलहे की नोक पर लूट लिया था, मुबारकपुर पुलिस एवं स्वाट टीम ने मुखबिर की सूचना पर लूटी गयी अष्टधातु की करोडो रूपये की राधा, कृष्ण, बलराम, राम , जानकी, सीता जी मूर्तिया बरामद की। पुछताछ में यह तथ्य प्रकाश में आया कि अनिल सोनकर को लूटी गयी मूर्तियो की यह ख्याति जानकारी में आयी कि मूर्तिया चावल को अपनी तरफ आकर्षित करती है, बहुत पुरानी एव ऐतिहासिक तथा अष्टधातु की होने से बहुमूल्य है। जिसकी विदेशी तस्कर करोडो में कीमत देते है। इसी से उसके दिमाग में इन्हे चुराने की बात दिमाग में आयी और वह अपनी मामी रीता सोनकर के यहा मुबारकपुर गया। जिससे मूर्तियो द्वारा चावल के आकर्षित करने की बात का परीक्षण कराया और अपनी अन्य साथियो के साथ इसकी योजना बनायी। घटना के दिन सौरभ, अनिल, विपिन मौर्या, राजेन्द्र एव पिन्टू वर्मा असलहे के साथ मन्दिर गये और पुजारी को बाधकर मूर्तिया लूटकर साथ लायी क्विड कार से मूर्तियो ट्यूब में टेप से पैक कर, लेकर फरार हो गये। घटना में शामिल अन्य अभियुक्तगण रैकी करने ,घटना को कारित करने एवं संसाधन उपलब्ध कराने के साथ बिक्री के लिये नेटवर्क बनाने में शामिल रहे है।