गोण्डा की बेटियों ने प्रदेश में लहराया परचम

करनैलगंज (गोण्डा)। राष्ट्रीय सेवा योजना उ.प्र .के निर्देश पर लाला लक्ष्मी नारायण डिग्री कॉलेज सिरसा, प्रयागराज एवं काशी हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी के संयुक्त तत्वाधान में गंदगी मुक्त भारत अभियान के तहत राज्यस्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन दिनांक 13 अगस्त 2020 से 15 अगस्त 2020 तक किया गया इस निबंध प्रतियोगिता का विषय - गंदगी मुक्त भारत के निर्माण में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों की भूमिका था। इस प्रतियोगिता का परिणाम आनलाइन मुख्य अतिथि डॉ. बाला लखेंद्र  कार्यक्रम समन्वयक राष्ट्रीय सेवा योजना काशी हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी व निर्णायक मंडल के सदस्य श्री सुमित सिंह असिस्टेंट प्रोफेसर राजनीति विज्ञान आर. एम.पी.जी.कॉलेज ,सीतापुर एवं डॉ.सीमा सिंह कार्यक्रम अधिकारी बेनी माधव सिंह डिग्री कॉलेज बिगहिया, प्रयागराज के उपस्थिति में डॉ.सच्चिदानंद त्रिपाठी कार्यक्रम संयोजक एवं जिला नोडल अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना ,प्रयागराज ने घोषित किया गया।
इस निबंध प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के विभिन्न विश्वविदयालयों और महाविद्यालयों के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों ने प्रतिभाग किया। निबंध प्रतियोगिता के परिणाम को घोषित करते हुए डॉ. सच्चिदानंद त्रिपाठी ने कहा कि श्रद्धा सिंह बीएससी द्वितीय वर्ष एलबीएस पी जी कॉलेज ,गोंडा को प्रथम स्थान, मोनिका श्रीवास्तव बी ए तृतीय वर्ष सरस्वती देवी नारी ज्ञान स्थली पीजी कॉलेज, गोंडा द्वितीय स्थान मंदाकिनी सिंह बीएससी एजी तृतीय वर्ष श्री जगदंबा शरण सिंह एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, गोंडा तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। मुख्य अतिथि बाला लखेंद्र ने सभी स्वयं सेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि आपके व्यक्तित्व के निर्माण से राष्ट्र के निर्माण में अहम भूमिका हो सकती है। एक बेहतर राष्ट्र के निर्माण में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक अपना अहम योगदान दे रहे हैं और दे सकते हैं। इस विश्वव्यापी कोरोना महामारी मैं भी राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने अहम भूमिका अदा की है जिसकी जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है। डॉ. सच्चिदानंद त्रिपाठी ने स्वयं सेवकों से कहा कि प्रतियोगिता में स्थान अर्जित करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि उस विषय का ज्ञान होना। गोंडा जनपद की इस सफलता पर जिला नोडल अधिकारी ड़ा जितेंद्र सिंह ने विजयी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए कहा कि समाज के निर्माण में आप लोगों द्वारा समाज सेवा के प्रति अन्य स्वयं सेवकों को  जो सीख दी जा रही है उससे उनके व्यक्तित्व विकास के साथ राष्ट्र के निर्माण में अहम योगदान होगा।