छात्रा ने दुनिया की विभिन्न भाषाओं में महारत हासिल कर विश्व पटल पर लखनऊ का गौरव बढ़ाया




सिटी मान्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (प्रथम कैम्पस), लखनऊ की छात्रा मंजुला सिंह ने दुनिया की करीब 7 अलग-अलग भाषाओं में महारत हासिल कर लखनऊ का नाम विश्व पटल पर रोशन किया है। भाषाओं की जादूगर सी.एम.एस. छात्रा मंजुला को उसकी अद्भुद प्रतिभा, क्षमता एवं विशेष योग्यता हेतु विभिन्न अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं जैसे बोलिवेरियन रिपब्लिक आॅफ वेनेजुएला, एलीमेन्ट्री वियतनामीज लैंग्गुएज, एल-लिंगो लैग्गुएज ट्रेनिंग इन स्पेनिश आदि द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया है। यह जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी है। श्री शर्मा ने बताया कि मंजुला ने अपनी प्रतिभा व मेधात्व के दम पर न सिर्फ स्पेनिश, जर्मन, अरबी, कोरियाई, वियतनामी, हिन्दी और अंग्रेजी समेत दुनिया की अन्य भाषा बोलने में दक्षता हासिल की है, बल्कि भाषाओं के विस्तार हेतु छात्रों व किशोरों के प्रशिक्षक के रूप में भी कार्य कर रही है। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने सी.एम.एस. छात्रा की उल्लेखनीय उपलब्धि पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उसके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. का मानना है कि छात्रों को विभिन्न भाषाओं का ज्ञान उनके वैश्विक पटल पर विकास व उत्थान में अत्यन्त सहायक है, साथ ही रोजगार कौशल बढ़ाने व में उच्चशिक्षा के अवसर बढ़ाने में भी अत्यन्त लाभकारी है। इसी को ध्यान में रखते हुए सी.एम.एस. के सभी कैम्पस में छात्रों को उनकी रुचि के अनुसार विभन्न देशों की भाषाओं को सीखने हेतु विशेष व्यवस्था की गई है। सी.एम.एस. का लक्ष्य अपने छात्रों को  वैश्विक भाषाओं में वार्तालाप करने में समर्थ बनाना है, जिससे उन्हें अन्य देशों के लोगों के साथ मिलने-जुलने व उन्हें समझने में आसानी हो। विभिन्न भाषाओं का ज्ञान छात्रों को व्यक्तित्व विकास हेतु अत्यन्त महत्वपूर्ण है।


 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

जन्म कुंडली में वेश्यावृति के योग

भृगु संहिता के उपचार