पत्रकारों के खिलाफ झूठे मुकदमे लिखाने का विरोध

प्रदेश में पत्रकारों के ऊपर झूठे मुकदमे लिखाने और उनके उत्पीड़न के खिलाफ यूपी जर्नलिस्ट एसोसिएशन उपजा ने प्रांतीय अध्यक्ष शिव मनोहर पांडे के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी, रायबरेली माला श्रीवास्तव को सौंपा फिरोजाबाद जिले के वरिष्ठ पत्रकार एवं इंडिया न्यूज के जिला संवाददाता सौरभ उपाध्याय एवं उनके सहयोगीयों के साथ एक अधिवक्ता एवं उसके सहयोगियों ने समाचार संकलन के दौरान मारपीट की जिसमें पत्रकारों को चोटें भी आई पत्रकारों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने पत्रकारों को बचाया. उनका मेडिकल कराया बाद में पत्रकारों ने घटना की एफ.आई.आर. दर्ज करा दी। विपक्षियों ने पुलिस के ऊपर दबाव बनाकर पत्रकारों के ऊपर संगीन धाराओं में फर्जी मुकदमा दायर करा दिया गया। इसी प्रकार एटा जिले के दो पत्रकारों तुर्रम सिंह एवं प्रदीप यादव के ऊपर भी फर्जी मुकदमे लिखे गए है समाज के एक तबके द्वारा पत्रकारों को दबाव में लेने और उनके द्वारा किए जा रहे अवैध कार्यों की रिपोर्टिंग न करने के लिए इस तरह के झूठे मुकदमे लिखवाए जा रहे हैं उपजा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है  कि झूठे मुकदमे वापस लिए जाएं और भविष्य में पत्रकारों को स्वतंत्रता पूर्वक कार्य करने का माहौल उपलब्ध कराया जाए। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार तथा उपजा प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य बी.एन. मिश्र, जिला महामंत्री राजेश मिश्र, आफताब आलम, रोहित मिश्र, नरेंद्र सिंह, शिवा मौर्या, अरुण पांडे, सूरज यादव, बबलू मौर्य, अखिल श्रीवास्तव, ओम शंकर शुक्ला, दिलीप चैधरी, राहुल मिश्रा, शिव प्रसाद यादव, राम सजीवन चैधरी केशवानंद शुक्ला आदि पत्रकार उपस्थित रहे।


 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

जन्म कुंडली में वेश्यावृति के योग

भृगु संहिता के उपचार