सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Celebration लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आनलाइन पीसकीपर्स कान्फ्रेन्स

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस), लखनऊ द्वारा इण्टरनेशनल डे आॅफ यूनाइटेड नेशन्स पीसकीपर्स के अवसर पर ‘पीसकीपर्स कान्फ्रेन्स’ का जूम एप पर आनलाइन आयोजन किया गया, जिसका विषय था ‘सी.एम.एस. एजूकेशन - ए पासपोर्ट फाॅर फ्यूचर’। इस आनलाइन सम्मेलन में विद्यालय के पूर्व छात्रों ने बड़ी संख्या में प्रतिभाग कर विश्व में एकता, शान्ति व सौहार्द स्थापित करने विभिन्न आयामों पर विस्तार से चर्चा की। कान्फ्रेन्स का शुभारम्भ विश्व एकता एवं सर्वधर्म प्रार्थना से हुआ एवं इसके उपरान्त टाक शो का आयोजन हुआ, जिसमें विद्यालय के पूर्व छात्रांे ने एक स्वर से कहा कि विश्व मानवता के विकास एवं उत्थान हेतु ‘विश्व एकता’ ही एकमात्र विकल्प है। छात्रों का कहना था कि सी.एम.एस. की ‘जय जगत’ एवं ‘वसुधैव कुटम्बकम’ की भावना से ओतप्रोत शिक्षा पद्धति आदर्श विश्व व्यवस्था के निर्माण में अहम भूमिका निभा रही है, जो भावी पीढ़ी को उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करने के साथ ही उच्च जीवन मूल्यों से भी परिपूर्ण कर रही है।   सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की वरिष्ठ प्रधानाचार्या श्रीमती ज्योति कश्यप ने विद्यालय के पूर्व छात्रों का आभार

इश्क के सांचे में ढली गजल का नाम है महक जौनपुरी: डा० नीलिमा मिश्रा

महिला काव्य मंच प्रयागराज इकाई के तत्वावधान में गजल की परिचित शख्सियत मंजू पाण्डेय ‘महक जौनपुरी’’ के कृतित्व पर एक आनलाइन समीक्षात्मक परिचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें उनके लेखन के विभिन्न आयामों पर प्रयागराज की वरिष्ठ रचनाकारों के मध्य विस्तार से चर्चा की गयी। महक जी बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं। आप इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अधिवक्ता है, महिला उत्पीड़न के मामले में सही न्याय हो इसके लिए आपका विशेष प्रयास रहता है। हाइकोर्ट बार एसोसिएशन में संयुक्त सचिव महिला’ के रुप में आप पदासीन हैं। अब तक आपके दो गजल संग्रह ’महक’ और ’तिश्नगी’ प्रकाशित हो चुके है। महक जी महिला काव्य मंच पूर्वी उत्तर प्रदेश की अध्यक्षा होने के साथ ही गजल और कवि सम्मेलन के मंचों का जाना पहचाना नाम है।  प्रयागराज की मशहूर शायरा डा. नीलिमा मिश्रा के लफ्जों में कहें तो इश्क के साँचे में ढली गजल का नाम है आ० मंजू पाण्डेय उर्फ महक जौनपुरी जी की शायरी। हर शेर में लफ्जों को इस तरह से बरता गया है कि ताजगी का अहसास होता हैं, ऐसा लगता है के ताजे गुलाब की महक आपको छू रही हो। एक बानगी देखिए - ’मोहब्बतों से महक रही हूँ,  बहार बन के म

वर्तमान परिस्थिति पर केन्द्रित रही महिला काव्य गोष्ठी

महिला काव्य मंच प्रयागराज इकाई के तत्वावधान में आनलाइन कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया प्रयागराज इकाई की अध्यक्ष रचना सक्सेना के संयोजन में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ कवियत्री ऊषा सिंह और अध्यक्ष के रूप में पूर्वी उत्तर प्रदेश इकाई की अध्यक्ष महक जौनपुरी मौजूद थी। कार्यक्रम का आरम्भ रेनू मिश्रा के वाणी वंदना से हुआ। सभी कवयित्रियों ने समसामयिकता को केन्द्र में रखकर काव्य पाठ किया।महक जौनपुरी ने सुनाया कि               बेपटरी जीवन की गाड़ी हुई सबसे बड़ी महामारी हुई नीलिमा मिश्रा ने सूफियाना अंदाज में सुनाया कि - दिल तेरा एक चाँद नगर है इश्क तेरा रुहानी है. रचना सक्सेना ने जीवन के संघर्षों की कहनी को कविता के माध्यम से पटल पर रखा, - सुनाया कि कड़क धूप आज की सांझ की उदासी है  उर्वशी उपाध्याय ‘प्रेरणा’ ने श्रमिकों के पलायन/दुर्दशा को व्यक्त करते हुए कहा कि -मौत की गठरी बांध पीठ पर, चला मुसाफिर धीरे - धीरे, रेनू मिश्रा ने कहा कि ओ लाडली मेरी ओ लाडली, प्राणों से प्यारी ओ लाडली,। नीलिमा मिश्रा ने खूबसूरत संचालन के साथ जिन कवयित्रियों को काव्य पाठ के लिए आमन्त्रित किया उनम

आप भूखों को खिला दें तो इबादत होगी

साहित्यिक संस्था ‘गुफ्तगू’ द्वारा शुरू किए गए ऑनलाइन  साहित्यिक परिचर्चा के अंतिम दिन आॅनलाइन मुशायरे का आयोजन किया गया, जिसका संचालन इम्तियाज अहमद गाजी ने किया। सबसे पहले मासूम रजा ने भूखों को खाना खिलाने की गुजारिश करते हुए शेर प्रस्तुत किया-‘दान मंदिर को या मस्जिद को हिमाकत होगी/आप भूखों को खिला दें तो इबादत होगी।’ विजय प्रताप सिंह ने कहा कि-‘अभी अभी नजर से जो इश्तिहार गुजरा है/न जाने क्यों हमारे जिगर के पार गुजरा है।’ गाजियाबाद के डीएसपी डाॅ. राकेश मिश्र ‘तूफान’ ने रुमानी अशआर शायरी पेश की-‘जिसकी खातिर सभी पागल की तरह रहते हैं/उसकी आंखों में हम काजल की तरह रहते हैं।’ इश्क सुल्तानपुरी ने कोरोना के कोहराम पर कलाम पेश किया- इस कोरोना ने तो कोहराम मचा डाला है/फिर से इंसान को इंसान बना डाला है। इम्तियाज अहमद गाजी के अशआर यूं थे-‘फूल पहुंचा जो तेरे कदमों में/सुब्ह होते ही जिन्दगी महकी। बेला, चंपा, गुलाब सब थे मगर/तुम जो आए तो तीरगी महकी।’ अनिल मानव ने जिन्दगी वास्तविकता की बात की-मुहब्बत की बौछार आई हुई है/यही जिन्दगी की कमाई हुई है।’ डाॅ. शैलेष गुप्त ‘वीर’ ने दोहा पेश किया-‘तन उनका लंदन

डिजाइनिंग आनलाइन असेसमेन्ट

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (प्रथम कैम्पस), लखनऊ की जूनियर कोआर्डिनेटर सुश्री कनिका कपूर ने ‘डिजाइनिंग आनलाइन असेसमेन्ट’ विषय पर आयोजित एक वेबिनार को सम्बोधित करते हुए अपने सारगर्भित विचारो से आनलाइन शिक्षक की आवश्यकता पर शिक्षा जगत को जागरूक किया एवं आनलाइन टीचिंग-लर्निंग को छात्रों के लिए उपयोगी, लाभदायक एवं प्रभावशाली बनाने के तौर-तरीकों पर देश-विदेश के शिक्षाविद्ों से सार्थक परिचर्चा की। यह एक राष्ट्रीय स्तर की वेबिनार थी जिसमें देश-विदेश के लगभग 1000 शिक्षाविद् ने प्रतिभाग किया। वेबिनार का आयोजन एफ.आई.सी.सी.आई.-एराइज के तत्वावधान में दूरस्थ स्कूलिंग पर आधारित ‘टीचिंग फाॅर द न्यू नार्मल’ विषयक विभिन्न वेबिनारों की श्रृंखला के अन्तर्गत सम्पन्न हुआ। इस वेबिनार के प्रमुख वक्ताओं में श्री मनीष जैन, चेयरमैन, फिक्की-एराइज एवं को-फाउण्डर एवं डायरेक्टर ‘द हेरिटेज ग्रुप आफ स्कूल्स’, श्री प्रमोद कुमार, डिपार्टमेन्ट आफ स्कूल एजूकेशन, हरियाणा, सुश्री अर्बिल दुलुडे मेटोस, हेड आफ डिजाइन, न्यूटन कालेज, लीमा, पेरू एवं सुश्री चित्रा बालाजी, मैथ फैकल्टी, डेलही पब्लिक स्कूल, नाशिक शामिल थी जबकि

देशभर के कई प्रसिद्ध साहित्यकारों ने अपने विचार व्यक्त किये

कैलाश गौतम हिंदी और अवधी के ऐसे निराले कवि हैं कि वे अपने वर्गीकरण को आप चुनौती देते हैं। अगर हम उन्हें प्रेम गीतों का रचनाकार कह कर उनकी ऐसी पंक्तियां याद करें-  ‘आना जी फिर आना/गीत इन्ही गलियों में-तुम पर्व लिए आनाध् त्योहार लिए आना‘। अथवा यह/‘गांव गया था गांव से भागा’ कैलाश गौतम आलोचक के लिए चुनौती हैं कि उन्हें किस वर्ग में रखा जाय। वे रोमांटिक है किंतु यथार्थवाद का आंचल कस कर पकड़े रखते हैं। यह विचार मशहूर साहित्याकार ममता कालिया ने साहित्यिक संस्था गुफ्तगू आॅनलाइन साहित्यिक परिचर्चा में रविवार को व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कैलाश ग्रामीण हैं किंतु शहर की रग-रग समझते हैं। एक जगह वे कहते हैं- ‘जैसे जैसे बेटा बड़ा हो रहा हैध्अपने पांव पर नहींध् बाप के सिर पर खड़ा हो रहा है।’ उनमें समय की विषमता का ज्ञान है किंतु दम्भ या क्रोध नहीं है। कहीं-कहीं दोनों भूमिकाएं साथ निभा देते हैं। गौतम की कविता अमौसा का मेला विश्व स्तरीय कविता है, जिसमे लोक संस्कृति के साथ मीठी खट्टी चुटकियां हैं। कभी उनकी कविता सीधी मार करती है तो कभी तिरछी। एक अकेली कविता ‘झुनिया’ इसे समझने के लिए पर्याप्त है। नागार्जु

फैशन-2020

महिला सशक्तिकरण एवं महिलाओं की छुपि प्रतिभाओं को निखारने के उद्देश्य से शुक्ला खादी ग्रामोद्योग संस्थान एवं माधव सेवा संस्थान द्वारा आयोजित महिला जागरूकता, फैशन-2020 एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय रायबरेली क्लब में किया गया। प्रतिभागियों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम के मूल्यांकन हेतु लखनऊ से जजो की टीम को आमंत्रित किया गया था जिसमें श्रीमती स्नेहलता श्रीवास्तव, ललित, विवेक वर्मा, विवेक मिश्रा प्रमुख रहे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा नेता अतुल सिंह एवं वरिष्ठ समाजसेवी अवतार सिंह छाबड़ा एवं श्रीमती जीत कौर छाबड़ा एवं नवोदय विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री राय एवं श्रीमती राय रही। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया पश्चात सरस्वती वंदना पर सुरभि श्रीवास्तव द्वारा मनमोहक प्रस्तुति पेश की गयी। मुख्य अतिथियों का स्वागत आयोजक सारिका शुक्ला अध्यक्ष शुक्ला खादी ग्रामोद्योग संस्थान, प्रियंका अवस्थी अध्यक्ष माधव सेवा संस्थान ने सभी आये हुए अतिथियों को बुके देकर सम्मानित कर उनका स्वागत किया। फैशन शो का आयोजन दो ग्रुपो में किया गया सर्वप्रथम ‘ए’ ग्रुप द्वार

सोनाली बेंद्रे ने नेशनल ग्रेटीटूड अवार्ड्स 2020 में धूम मचाया

नेशनल ग्रेटीटूड अवार्ड्स-2020 का भव्य आयोजन रैडिसन ब्लू होटल, पश्चिम विहार दिल्ली में पेपर स्टोन प्रोडक्शंस के मैनेजिंग डायरेक्टर्स वाइन अरोरा व गुरुदेव अनेजा द्वारा किया गया था, जोकि सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। जहाँ पर राजनीतिक, धार्मिक,सामाजिक व बिजनेस से जुड़े सफल लोगों को मुख्य अतिथि फिल्म अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विशेष अतिथि दिल्ली की बीजेपी की वाईस प्रेसीडेंट श्रीमती योगिता सिंह, मुंबई अटैक के दौरान सुर्खियों में आये और नेशनल हीरो मरीन कमांडो प्रवीण टीओटिया इत्यादि लोगों ने कार्यक्रम की शोभा को बढ़ाया। वर्ल्ड फेमस दीप्ती दुग्गल को वीमेन आइकॉन ऑफ द ईयर 2020 के अवार्ड  से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर बहुत ही बेहतरीन डांस प्रोग्राम, सांस्कृतिक कार्यक्रम व अन्य कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए।फिल्म अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे ने जमकर आयोजकों की तारीफ की।                    पेपर स्टोन प्रोडक्शंस के मैनेजिंग डायरेक्टर वाइन अरोरा, इससे पहले कई अलबमों में व फिल्मों में अभिनय कर चुके है और मैनेजिंग डायरेक्टर गुरुदेव अनेजा, इसके पहले कई फिल्मों, टीवी शो और म्यूजिक

प्रयागराज की सात कवित्रियों को महादेवी वर्मा सम्मान मिलेगा

प्रयागराज नगर की सात कवयित्रियों को साहित्यिक संस्था गुफ्तगू की ओर से ‘महादेवी वर्मा सम्मान’ प्रदान किया जाएगा। 26 मार्च को महादेवी वर्मा के जन्म दिन पर हिन्दुस्तानी एकेडेमी में आयोजित होने कार्यक्रम में यह सम्मान इन्हें प्रदान किया जाएगा। सम्मान पान वाली पहली कवयित्री रचना सक्सेना काफी समय से लेखन के प्रति सक्रिय हैं, उनका काव्य संग्रह ‘किसकी रचना’ प्रकाशित हो चुका है। वे महिला काव्य मंच की प्रयागराज इकाई की अध्यक्ष भी है। इससे पहले उन्हें ‘बेकल उत्साही सम्मान’ भी प्राप्त हो चुका है। दूसरी कवयित्री जया मोहन हैं, इनकी अब तक एक दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं और कई संस्थाआंे से सम्मान प्राप्त हो चुका है। सम्मानित होने वाली तीसरी कवयित्री रमोला रूथ लाल हैं। इनकी अब तक पांच पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। ‘शान-ए-इलाहाबाद’, ‘कैफी आजमी सम्मान’ समेत कई एवार्ड हासिल हो चुके हैं। चैथी कवयित्री नीना मोहन श्रीवास्तव हैं। ये पेशे से वकील हैं, काफी समय से काव्य लेखन कर रही हैं, विभिन्न कवि सम्मेलनों में शिरकत करती हैं, विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में रचनाए प्रकाशित हो रही हैं। पांचवीं कवयित्

कामनवेल्थ समारोह

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस), लखनऊ द्वारा 21वाँ कामनवेल्थ दिवस समारोह आज बड़ी धूमधाम से सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) आडिटोरियम में मनाया गया। मुख्य अतिथि, श्री एस. राजलिंगम, आई.ए.एस., जिलाधिकारी, सोनभद्र, उ.प्र., ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवत उद्घाटन किया। इस भव्य समारोह में सी.एम.एस. छात्रों ने काॅमनवेल्थ थीम ‘डिलीवरिंग ए कामन यूचर: कनेक्टिंग,  इनोवेटिंग, ट्रान्सफार्मिंग’ विषय पर विशेष रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा विश्व समाज में एकता, शान्ति व सद्भाव का संदेश प्रसारित किया। इसके अलावा, छात्रों द्वारा प्रस्तुत विश्व शान्ति प्रार्थना, सर्व-धर्म प्रार्थना, कामनवेल्थ गीत आदि अनेकों कार्यक्रमों ने सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया।  इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य अतिथि श्री एस. राजलिंगम, आई.ए.एस., जिलाधिकारी, सोनभद्र, उ.प्र., ने कहा कि ऐसे आयोजन युवा पीढ़ी को विश्व समाज से जुड़ने एवं एकता, शान्ति व सौहार्द का वातावरण बनाने में प्रेरक की भूमिका निभाते हैं। यह बड़ी ही अच्छी बात है कि सी.एम.एस. ने विश्व एकता व विश्व शान्ति के प्रयास में छात्रों एवं युव

धूमधाम से मनाया जाएगा महादेवी वर्मा का जन्म दिन

महादेवी का जन्म दिन गुफ्तगू की ओर से धूमधाम से मनाया जाएगा। इस मौके पर ‘प्रयाग की सात कवयित्रियां’, ‘उत्तर प्रदेश की सात कवयित्रियां’ और ‘बिहार की सात कवयित्रियां’ नामक तीन पुस्तकों का विमोचन होगा, तीनों पुस्तकें महादेवी वर्मा को समर्पित हैं, इन पुस्तकों का संपादन इम्तियाज अहमद गाजी ने किया है। प्रयागराज सिविल लाइंस स्थित होटल विलास में हुई गुफ्तगू कार्यकारिणी की बैठक में यह घोषणा की गई। बैठक में तय किया गया कि इन तीनों पुस्तकों में शामिल सभी 21 कवयित्रियों को ‘महादेवी वर्मा सम्मान’ 26 मार्च को हिन्दुस्तानी एकेडेमी में होने वाले कार्यक्रम में प्रदान किया जाएगा। गुफ्तगू के अध्यक्ष इम्तियाज अहमद गाजी ने बताया कि बिहार की कुमारी स्मृति‘ कुमकुम, कुमारी निधि चैधरी, डाॅ. नीलम श्रीवास्तव, पूनम सिन्हा श्रेयसी, कंचन पांडेय, निशा सिम्मी और स्वराक्षी स्वरा, उत्तर प्रदेश की अतिया नूर, डाॅ. मंजरी पांडेय, डाॅ. नीलम रावत, डाॅ. नसीमा निशा, ममता देवी, शबीहा खातून, शगुफ्ता रहमान और प्रयागराज की नीना मोहन श्रीवास्तव, रमोला रूथ लाल ‘आरजू’, रचना सक्सेना, जया मोहन, उषा लाल, अर्चना जायसवाल और मधु गौतम ‘मधु’

बचपन से ही एकता के विचार देने चाहिए

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस), लखनऊ द्वारा ‘एनुअल पैरेन्ट्स एण्ड ग्रैण्डपैरेन्ट्स डे’ समारोह का भव्य आयोजन आज सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में बड़ी धूमधाम से सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में पधारे वरिष्ठ पत्रकार श्री सदगुरु शरण अवस्थी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवित उद्घाटन किया। इस अवसर पर बोलते हुए श्री अवस्थी ने कहा कि सी.एम.एस. छात्र प्रतिभा के धनी हैं। अनुशासित एवं संस्कारयुक्त वातावरण में पले-बढ़े बालक ही आगे चलकर समाज का मार्गदर्शन कर सकते हैं। हमें बच्चों को अच्छा संसार देने की शुरूआत घर-परिवार से करनी चाहिए एवं उन्हें बचपन से ही एकता के विचार देने चाहिए। इस प्रकार के समारोह बच्चों के नैतिक एवं आध्यात्मिक विकास में बहुत महत्वपूर्ण है।  इससे पहले, समारोह का शुभारम्भ ‘स्कूल प्रार्थना’ से हुआ एवं इसके उपरान्त सर्व-धर्म प्रार्थना एवं विश्व शान्ति प्रार्थना ने सम्पूर्ण वातावरण को आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया। इस भव्य समारोह में रंग-बिरंगी पोशाकों में हँसते-गाते नन्हें-मुन्हें बच्चों ने जीवन का उल्लास बिखरते हुए एक से बढ़कर एक शानदार शैक्षिक एवं स

एनुअल पैरेन्ट्स डे का आयोजन

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर कैम्पस, लखनऊ द्वारा एनुअल पैरेन्ट्स डे एवं डिवाइन एजुकेशन कान्फ्रेन्स का भव्य आयोजन सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) आॅडिटोरियम में किया गया। इस शानदार समारोह में विद्यालय के प्री-प्राइमरी एवं कक्षा-1 व 2 के नन्हें-मुन्हें छात्रों ने अभिभावकों के समक्ष न सिर्फ अपनी शैक्षिणिक व कलात्मक प्रतिभा का प्रदर्शन किया अपितु विद्यालय द्वारा प्रदान की जा रही नैतिक व आध्यात्मिक शिक्षा का चित्रण प्रस्तुत कर अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सार्वभौमिक जीवन मूल्यों, विश्वव्यापी चिंतन, विश्वसमाज की सेवा एवं प्रत्येक क्षेत्र में उत्कृष्टता आदि विषयों पर छात्रों ने सारगर्भित विचार रखे, साथ ही रंगारंग शिक्षात्मक साँस्कृतिक कार्यक्रमों का समाँ बाँधकर वातावरण को उल्लास व उमंग से सराबोर कर दिया। इस अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वोच्चता अर्जित करने वाले छात्रों व वार्षिक परीक्षाओं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया।   समारोह का शुभारम्भ विश्व शान्ति एवं ईश्वरीय एकता का सन्देश देती ‘सर्व-धर्म एवं विश्व शान्ति प्रार्थना’ से हुआ, जि

मिस एंड मिस्टर राईजिंग स्टार सीज़न-2 का आयोजन

सिड पठान और राज एंड मेराज अंसारी फाउन्डेशन द्वारा मिस एंड मिस्टर राईजिंग स्टार सीज़न-2 का सफल आयोजन लखनऊ के हज़रत गंज स्थित होटल में किया गया जिसमें प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आये प्रतिभागियों ने अपने टैलेन्ट को जजों के सामने रखा। कार्यक्रम में फैशन शो को जज करने के लिए बालीवुड में अपनी पहचान ससुराल सिमर का, एक रिश्ता ऐसा भी जैसे अनेक टीवी शो द्वारा प्राप्त कर चुकी मशहूर अभिनेत्री प्रियमवदा कान्त ने अदा की जिनके साथ में ओमदीप मोतियानी, दीप सच्चर, निभा मिश्रा ने अपने तीखे सवालों से प्रतिभागियों के सामने कई बार मुश्किल भी खड़ी करी। इस कार्यक्रम में पुरुष व महिलाओं का अलग-अलग रिजल्ट घोषित किया गया। जिसमें पुरुषों में प्रथम पुरस्कार तरुन द्वितीय काशिफ व तृतीय राज गोड को प्राप्त हुआ वहीं फीमेल में फस्र्ट पुरस्कार कुमकुम द्वितीय मुस्कान व तृतीय निशु ने अर्जित किया। राज एंड मेराज अंसारी ने बातचीत में बताया कि वह इस प्रकार के कार्यक्रमों को लगातारी आयोजित करते रहते है और इसका उद्देश्य छिपी हुई प्रतिभाओं को एक मंच उपलब्ध कराना होता है क्योकि अधिकतर देखा जाता है कि दूर दराज के क्षेत्रों में रहने

वार्षिक मिनी स्पोर्ट मीट 2019-20 मनाया गया

केंद्रीय विद्यालय रायबरेली की दूरभाष नगर शाखा में, वार्षिक मिनी स्पोर्ट मीट 2019-20 मनाया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में विद्यालय के प्राचार्य श्री एस के अग्रवाल उपस्थित हुए। प्रधानाध्यापक आर बी शर्मा द्वारा मुख्य अतिथि का स्वागत किया गया। स्वागतोपरांत अग्रवाल ने मिनी स्पोर्ट मीट का शुभारंभ किया। इसके अंतर्गत छात्र एवं छात्राओं के लिए सदनीय व्यवस्था के माध्यम से अनेक प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इसमें 19 प्रतियोगिताएं बालक और 19 प्रतियोगिताएं बालिका वर्ग के लिए आयोजित की गई और पुरस्कार स्वरूप 114 मेडल प्रदान किये गए। 100 मीटर रेस में बालक वर्ग में चिरंजीवी और बालिका वर्ग में श्रुति ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। जिलेबी दौड़ बालिका वर्ग में अदिति सिंह प्रथम, जिज्ञासा रावत द्वितीय और योगिता सिंह ने तृतीय स्थान पयाप्त किया वहीं बालक वर्ग में दृष्टांत प्रथम अर्पित द्वितीय तथा देवांश ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। लंबी कूद प्रतियोगिता में बालक वर्ग में अभिषेक और बालिका वर्ग में श्रुति ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 400 मीटर रिले दौड़ प्रतियोगिता में बालक वर्ग में टैगोर हाउस और बालिका बर्ग में अशो

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गया

केंद्रीय विद्यालय रायबरेली के दूरभाष नगर शाखा में दादा-दादी नाना-नानी दिवस अत्यंत उल्लास से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानाचार्य श्री संजीव कुमार अग्रवाल, प्रधानाध्यापक प्रथम पाली आर बी शर्मा तथा प्रधानाध्यापक द्वितीय पाली श्री कमलेश कुमार द्वारा दीप प्रज्वलन व माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके किया गया। ततपश्चात नन्हे-मुन्ने बच्चों ने अपने साथ आये हुए अपने दादा-दादी, नाना-नानी का स्वागत पुष्पगुच्छ देकर किया और उन्हें रोली चन्दन का टीका लगाया व चरण स्पर्श करके आशीर्वाद प्राप्त किया। विद्यालय की तरफ से अतिथियों के लिए अल्पाहार की भी व्यवस्था की गई। अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रधानाध्यापक श्री आर बी शर्मा ने बच्चों में नैतिक मूल्यों का ह्रास एवं समाज मे बढ़ते अपराध का कारण बच्चों से अपने दादा-दादी और नाना-नानी के द्वारा सुनाई गई नैतिक कहानियों की दूरी को बताया। इस अवसर पर उन्होंने स्वरचित कविता दादा जी की स्मृति का पाठ किया जिसे सुनकर अतिथिगण भाव विभोर हो गए ततपश्चात कक्षा एक के बच्चों द्वारा भारत के विभिन्न प्रान्तों की वेशभूषा की मनमोहक झांकियां प्रस्तुत की गई। बच्चों

वार्षिक समारोह एम्बिशन में रुद्राक्ष सिंह ने धमाल मचाया

अमरेशपुरी कालोनी स्थित किडजी मदर्स टच प्ले स्कूल, रायबरेली में आठवाँ र्वााकोत्सव मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हेमकुण्ड पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर श्री पुपिन्दर सिंह गाँधी एवं अवनिन्द्र कुमार तिवारी खण्ड विकास अधिकारी (बी0डी0ओ0) सरेनी ने दीप प्रज्ज्वलित करके की। श्री पुपिन्दर जी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि अभिभावकों को बच्चों की जीत में खुश होना सिखाये साथ ही हार को स्वीकार करने की प्रेरणा लेना सिखाये न कि द्वेष राग की भावनाओं से बच्चों को दूर रखें उनहोने शिक्षा और शिक्षकों की महत्ता पर अपने विचार रखे।  इसके बाद मुख्य अतिथि ने बच्चों को पुरस्कार (अवार्ड) वितरित किये जिसमें स्टूडियस अवार्ड में प्ले ग्रुप के छात्र रूद्राक्ष सिंह चैहान ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। रुद्राक्ष ने मेरे सैंया जी से आज मेरा ब्रेकअप हो गया और पाम सांग इंग्लिश गानों पर अपनी शानदार परफार्मेंस से दर्शकों की खूब तालियाँ बटोरीं। कलरिंग में अनाया जैन, दक्खिसत, आध्या, जानवी, अयान, असना, परिधी, प्रथम स्थान पर रहे और स्टूडियस अवार्ड में रूद्राक्ष, सात्विक, ध्रुव, वेदां, रिभ, कावी, आयुमान ने प्रथम स्थान प्रा

वार्षिक महोत्सव में रंग जमाया

  चिल्ड्रन वेलफेयर सेंटर स्कूल तथा क्लारास कालेज आफ कामर्स द्वारा 39वाँ वार्षिक महोत्सव के अवसर भव्य और रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन स्कूल ग्राउंड,यारी रोड, अँधेरी (वेस्ट), मुंबई में आयोजित किया गया था। जहाँ पर कालेज और स्कूल के बच्चे के वार्षिक पुरस्कार का वितरण स्कूल के प्रिंसिपल श्री अजय कौल और आये अतिथियों द्वारा किया गया। जहाँ पर बच्चों द्वारा नृत्य, राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर सामाजिक नाटक व विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम में स्कूल के प्रिंसिपल श्री कौल, एक्टिविटी चेयरमैन प्रशांत काशिद, शबनम कपूर के अलावा सांसद गजानन कीर्तिकर, विधायक डा. भारती लव्हेकर, शैलेश फनसे, लक्ष्मी अग्रवाल, डा. अमर सिंह निकम, डा. मनीष निकम इत्यादि और फिल्म कलाकार करिश्मा कपूर, सुनील शेट्टी, सोनाली बेंद्रे, आदित्य पंचोली, चंकी पांडे, खल्ली, करिश्मा तन्ना, दया शेट्टी, सिद्धार्थ निगम जैसे अतिथिगण, समाज सेवक, राजनेता, फिल्म अभिनेता इत्यादि लोग कार्यक्रम में शामिल हुए और कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। सभी को कालेज द्वारा सम्मानित किया गया व अतिथियों द्वारा बच्चों प्राइज देकर सम्मानित

अजगर करे न चाकरी, पंछी करे न काम

प्राचीन समय में कबीरदास ने अपने दोहों के माध्यम से समाज की कुरुतियों पर करारा प्रहार किया, उनके दोहे पढ़कर लोग व्याकुल हो जाते थे, कई बार दोहों की वजह से समाज में सुधार भी हुए। साथ ही उस समय के शासकों को उनके दोहों से परेशानी होती थी, जिसकी वजह से कबीर को प्रताड़ित भी किया करते थे। आज के समय में हमारे हिन्दी साहित्य की प्राचीन विधा है, जिसे पाठ्यक्रम में भी पढ़ाया जाता है। यह बात प्रभाशंकर शर्मा ने गुफ्तगू की ओर से करैली स्थित अदब घर आयोजित दोहा दिवस समारोह में बतौर मुख्य वक्ता कही। उन्होंने कहा कि पांचवीं सदी में दोहा सृजन की शुरूआत हुई है, इसका वर्तमान छंद 13-11 मात्राओं का है, लेकिन प्राचीन काल में 12-14 और 14-16 के शिल्प में भी दोहे कहे जाते थे। प्रयाग के कवि मलूकदास का दोहा ‘अजगर करे न चाकरी, पंछी करे न काम, दास मलूका कह गए, सबके दाता राम’ पूरी दुनिया में बहुत ही प्रचलित है। उर्दू शायर निदा फाजली के दोहे भी खूब पढ़े, सुने जाते हैं, उनका यह दोहा बेहद प्रासंगिक है, बच्चा मस्जिद देखकर बोला आलीशान, अल्लाह तेरे एक को इतना बड़ा मकान’। कवि बिहारी, रहीम आदि भी दोहा के बड़े कवि हुए हैं। गुफ्तग